अब बिकेंगे कौड़ियों के भाव डीजल पेट्रोल, आ गया ‘Flex Fuel’जानें क्या होगी कीमत, गल्फ देशों को लगेगा झटका

Flex Fuel Engine 2022 :- लगातार बढ़ती डीजल पेट्रोल एवं सीएनजी के दामों ने आम-जनमानस की कमर तोड़ दी है | इसे देखते हुए गवर्नमेंट द्वारा फ्लेक्स ईंधन फ्यूल (Flex Fuel Engine motor) इस्तेमाल बढ़ाने के लिए परिवहन मंत्री नितिन गडकरी द्वारा इस तरह की गाड़ियां मार्केट में उतारने की प्लानिंग सेट कर ली गई है | 28 सितंबर 2022 को भारत में पहली बार फ्लेक्स ईंधन कार सड़कों पर देखने को मिल जाएगी !




Flex Fuel Engine 2022
Flex Fuel Engine 2022

फ्लेक्स फ्यूल डीजल पेट्रोल और सीएनजी से क्यों सस्ता है ?

Why flex fuel diesel is cheaper than petrol and CNG ?

Flex Fuel Engine 2022 :-फ्लेक्स फ्यूल ईंधन को बनाने में कोई बहुत जटिल प्रक्रिया नहीं है | और यह हम लोग के देश से ही निर्माण हो सकता है | इसके लिए भारत जैसे बड़े तेल निर्यात देश को किसी और अन्य देश पर निर्भरता की जरूरत नहीं है |

क्योंकि गन्ने की खेती बाहुल्य क्षेत्र भारत को माना जाता है | इस गन्ने की सिरा से उत्पन्न एथेनाल ethanal के कम्युनिकेशन communication से आसानी से बनाया जा सकता है | फ्लेक्स फ्यूल flex fuel बनाने के लिए जिस भी टाइप की लिक्विड लगेगी वह अपने देश में आसानी से उपलब्ध होने वाली चीज है | फ्लेक्स फ्यूल flex fuel शब्द से तात्पर्य फ्लैक्सिबल से है flex fuel मतलब है |

Flex Fuel Engine 2022-Flex Fuel Engine 2022

एक संक्षिप्त विवरण के रूप में इसे पेट्रोल विकल्प के रूप में माना जा सकता है | जिसका ज्यादातर उपयोग वाहनों को एवं इंजनों को चलाने के लिए किया जाता है फ्लेक्स फ्यूल पेट्रोल और एथेनाल या मेथेनॉल के कम्युनिकेशन से आसानी से प्राप्त किया जा सकता है |

इसीलिए फ्लेक्स ईंधन प्रदूषण के मामले में भी सही है | और कम लागत में आपको आसानी से मिल जाएगा, यही वजह है कि, यह पेट्रोल डीजल एवं सीएनजी से सस्ता मिलेगा !

फ्लेक्स फ्यूल का इतिहास एवं इनके जनक-History and Origin of Flex Fuel

History and Origin of Flex Fuel :- फ्लेक्स फ्यूल Flex Fuel कोई आज का शब्द नहीं है बल्कि इसका इतिहास 1973 से जुड़ा हुआ है | फ्लेक्स फ्यूल टैक्सी कार Flex Fuel texi car का आविष्कार जान जिंक John Zinc के द्वारा कैलिफोर्निया स्थित विश्वविद्यालय एवं उनकी एक टीम द्वारा फ्लेक्स फ्यूल कार आविष्कार किया गया था |

Flex Fuel Engine 2022

भारत में पहली फ्लेक्स फ्यूल कार कब लांच की गई ?

When was the first flex cable car launched in India :- भारत में फ्लेक्स फ्यूल कार 28 सितंबर 2022 को उतारा (लांच) किया गया था | फ्लेक्स फ्यूल कार first flex cable car को माननीय सड़क परिवहन नितिन गडकरी द्वारा लांच किया गया था |

फ्लेक्स फ्यूल के लाभ-Benefits of Flex Fuel

Benefits of Flex Fuel :-लगातार बढ़ती डीजल एवं पेट्रोल के दाम लोगों की आर्थिक स्थिति को कमजोर करते जा रहा है | इसे देखते हुए फ्लेक्स इंजन का उपयोग समय के अनुसार अनिवार्य करना ठीक है सरकार द्वारा सभी वाहन कंपनियों को भविष्य में फ्लेक्स इंजन का उपयोग करने पर जोर दे रही है | यह घोषणा केंद्रीय परिवहन एवं राज्य मंत्री नितिन गडकरी द्वारा की गई है |

Flex Fuel Engine 2022 :- फ्लेक्स फ्यूल को बनाने में या फिर अपने गाड़ी में इस्तेमाल करने के लिए आपको एथेनाल 85% परसेंट एवं पेट्रोल 15% के अनुपात में मिलाकर यूज किया जा सकता है | जिससे कि पेट्रोल एवं डीजल की डिमांड कम होगी एवं भारत जैसे बड़े देशों को तेल के लिए किसी अन्य देशों से तेल का निर्यात कम कर लिया जाएगा

इसके साथ साथ यह पर्यावरण के अनुकूल भी है | दुनिया में ब्राजील एकमात्र ऐसा देश है जहां ,पर सबसे ज्यादा फ्लेक्स ईंधन का उपयोग गाड़ियों में किया जाता है | सरकार इस प्रोजेक्ट को लाने के लिए लगभग सारी इंजन एवं कार कंपनियां को एडवाइजरी जारी कर दी है | Flex Fuel Engine 2022

फ्लेक्स फ्यूल के लाभ

  • किसानी एवं गृहस्ती करना सस्ता होगा
  • यह पर्यावरण के भी अनुकूल है
  • इसका अधिक भाग भारत में बनाया जा सकता है
  • इसे गन्ने एवं मक्के के दलों से बनाया जा सकता है
  • डीजल पेट्रोल से हो रहा है पर्यावरण प्रदूषण को इस ईंधन के बाद पर्यावरण शुद्धि में प्राप्त वृद्धि होगी
  • देश में कार्बन उत्सर्जन में कमी वृद्धि की जाएगी
  • डीजल पेट्रोल के मुकाबले यह सस्ता होगा
  • Flex Fuel Engine 2022

फ्लेक्स फ्यूल डीजल पेट्रोल में क्या है अंतर ?

What is the difference between flex fuel diesel petrol :- डीजल पेट्रोल के मुकाबले यह यह फ्लेक्स ईंधन कम कार्बन उत्सर्जन करता है | इससे पर्यावरण में कार्बन उत्सर्जन की मात्रा को कम किया जा सकता है | एवं पर्यावरण को स्वस्थ रखा जा सकता है | वहीं डीजल पेट्रोल की बात की जाए तो डीजल पेट्रोल को जलने पर कार्बन उत्सर्जन की मात्रा काफी हद तक बढ़ जाती है | जिससे जीव, जंतु, वनस्पति, पौधे, एवं मानव प्रजाति के लिए भी हानिकारक सिद्ध होता था |Flex Fuel Engine 2022

एथेनाल क्या है ?What is Ethanal ?

What is Ethanal :-एथेनाल की बात की जाए तो यह एक तरह का बायोफ्यूल है| इसे गन्ना या मक्के एवं बजरे की हवन में एवं बेस्ट से बनाया जा सकता है | इसका लागत मूल्य पेट्रोल से काफी सस्ता होता है | वर्तमान में एथेनाल का कीमत ₹60 लीटर है |

जबकि पेट्रोल एवं डीजल की तुलना में इसकी रेट 20 से ₹25 सस्ता है | पर्यावरण प्रदूषण में काफी हद तक कार्बन उत्सर्जन कम करता है | अभी तक जो आप पेट्रोल प्रयोग कर रहे हैं |

उसमें तेल कंपनियों एवं सरकार द्वारा एथेनाल की कुल मात्रा 5% से लगभग 10% मिलाकर तेल कंपनियों एवं सरकार द्वारा आप लोगों को उपलब्ध कराया जा रहा है |

फ्लेक्स ईंधन क्या है?-What is Flex Fuel?

What is Flex Fuel :-फ्लेक्स फ्यूल एक प्रकार का वैकल्पिक व्यवस्था है जिसे फ्लेक्स फ्यूल गैसोलीन और मेथेनॉल एवं एथेनाल के मिश्रण से तैयार किया जाता है |

एक प्रकार का यह फ्लेक्स फ्यूल इंजन मूल रूप से पेट्रोल इंजन के ही बराबर होता है | इसमें कुछ अतिरिक्त घटक का मिश्रण करके इलेक्ट्रिकल विकल की तुलना में कल इंजन के तौर पर कम खर्च पर तैयार किया जाता है |

फ्लेक्स फ्यूल आने से कारों में क्या परिवर्तन करना पड़ेगा ?

What changes will have to be made in cars with the introduction of flex fuel

Flex Fuel Engine 2022 :- इसके लिए सर्वप्रथम अपने कार्य के इंजन में एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक कंट्रोल माड्यूल की आवश्यकता पड़ेगी जिसमें फ्यूल इंजेक्श एक्टिव इंजेक्टर आपकी गाड़ी के इंजन में लगाया जाएगा एवं दूसरी फ्यूल सेंसर मीटर जो कि कार में स्नान और पेट्रोल की अनुपात को किस हिसाब से विजन को देना है |

इस प्रक्रिया का निर्धारण करेगा एवं फ्यूल सेंसर इलेक्ट्रॉनिक कंट्रोल माड्यूल से कनेक्ट किया जाएगा जिससे कि गाड़ी में पेट्रोल एवं एथेनाल की समृद्धि मात्रा इंजन को मिलती रहे |

फ्लेक्स फ्यूल कार बनाने में कार कंपनियों को किन-किन चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा

कैस पूंजी एवं मुद्रा :- फ्लेक्स फ्यूल कार को लाने के लिए कार कंपनियों द्वारा आर्थिक मुद्रा की बहुत बड़ी संकट आने वाली है | हाल ही के दिनों में सरकार द्वारा इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल पर ज्यादा जोर देने के कारण बहुत सी आटोमोटर्स कंपनियां अधिक पूजी इलेक्ट्रिक व्हीकल बनाने में निवेश कर चुकी है |

इस प्रकार फ्लेक्स फ्यूल व्हीकल की डिमांड तेज होगी तो कंपनियों द्वारा आर्थिक निवेश के लिए पैसे के लिए सरकार पर निर्भरता विदेशी कर्ज में जाने की संभावना हो सकती है |

माइलेज का प्रॉब्लम :- माइलेज के मामले में फ्लेक्स फ्यूल पेट्रोल डीजल एवं सीएनसी की अपेक्षा थोड़ी कम होती है जिसके कारण कस्टमर इससे थोड़ा खरीदार इग्नोर था दिखाने की चेष्टा की जा सकती है|

Flex Fuel Engine 2022

Flex Fuel Engine 2022 महत्वपूर्ण लिंक देखें

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Liger movie 2022Click Here
Amrita Hospital 2022Click Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
telegram webClick Here

Leave a Comment