ravan dahan : रावण दहन पर रोक, रावण दहन को रोकने के लिए पुलिस FIR की कॉपी लेकर पहुंची,

Ravan Dahan :- दशहरे की तैयारी जोरों शोर पर है सभी जगह दशहरा मनाई जा रही है | वही हाल मुंबई में भी है, मुंबई में शिवसेना के दोनों गुटों द्वारा आपसी विवाद को देखते हुए एक गुट ने f.i.r. कर दिया इसी बीच रावण दहन (Ravan Dahan) का विरोध करते हुए शिवसेना के दूसरे दल ने पुलिस को f.i.r. में रावण का दहन करने का विरोध पुलिस द्वारा रोकने का सहयोग मांगा है |




ravan dahan
Ravan Dahan par laga rok

और रावण दहन “Ravan Dahan” करने वाले के खिलाफ अत्याचार का मामला दर्ज कराया है | यह संगठन महाराष्ट्र के आदिवासी बचाव अभियान संगठनों को मजबूत करने के लिए पुलिस को ज्ञापन सौंपा है | पुलिस अधिकारियों द्वारा कार्रवाई का आश्वासन दिया गया है |

FIR कॉपी में क्या लिखा गया

Ravan Dahan FIR :-संगठन द्वारा f.i.r. कहां पर है, तमिलनाडु में रावण की 325 मंदिर स्थित है | एवं रावण का सबसे बड़ा प्रतिमा मध्यप्रदेश में बनाई गई है जिसे अमरावती जिले के छत्तीसगढ़ में मेलघाट में एक बड़ी जुलूस निकालकर रावण की पूजा अर्चना की जाती है |

संगठन की माने तो रामायण आदिम संस्कृत का ज्ञाता था | एवं पूज्य देवताओं में इनका सुमारा स्थान था रावण को आदि संस्कृत का पूजा स्थान एवं देवता के रूप में जाना जाता है | आदिवासियों द्वारा भी इन्हें पूजनीय राजा के रूप में माना जाता है |

कुछ कुप्रथा एवं परंपराओं लगातार जारी रहने के कारण इस रावण दहन से आदिवासी समुदायों की भावनाओं की आहत को ठेस पहुंची है | इसीलिए किसी जगह भी रावण की जलाने की अनुमति नहीं देनी चाहिए और इस प्रथा को स्थाई रूप से बंद कर देनी चाहिए |

रावण दहन क्या है पुरानी परंपरा

Ravan Dahan PURANI PARMPARA :-रावण दहन “Ravan Dahan” को लेकर पुरानी परंपराएं चली आ रही है हालांकि रावण दहन की प्रथा हजारों साल से चली आ रही है | असत्य पर सत्य की विजय की इस त्यौहार को हर साल पूरे देश में बड़ी धूमधाम से मनाया कई जगहों पर दुर्गा माता पूजा का पंडाल लगाया जाता है | तो कई जगहों पर दशहरे पर रावण की प्रतिमा का दहन किया जाता है |

लेकिन इस साल महाराष्ट्र के आदिवासी बचाओ अभियान संगठनों द्वारा इस प्रथा पर पूर्ण रोक लगाने के लिए प्रशासन को एक f.i.r. दिया गया इन संगठनों का यह भी कहना है कि, विभिन्न गुणों के खान रावण को एक संगीत विशेषज्ञ एवं राजनेता एवं उत्कृष्ट मूर्तिकार तथा संस्कृत के महान ज्ञाता रावण को आयुर्वेदाचार्य के तर्क पर भी जाना जाता है |

एवं इनका पुतला जलाने से आदिवासियों में और संजू विलाप ताकि मैसेज आती है | और उनका अपमान होता है, पुलिस एफ आई आर में यह सारी बातें को लिखकर एफ आई आर की एक आंख पुलिस स्टेशन में जमा कर दी गई है एवं पुलिस द्वारा भी उन्हें आश्वासन देते हुए उन्हें जल्द से जल्द इस प्रथा के लिए रोक लगाने की सहमति उच्च अधिकारियों द्वारा बनाई जाएगी |

 रावण दहन पर रोक– महत्वपूर्ण लिंक देखें

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Eelectric Bicycle 2022Click Here
khan sir patna 5g analysisClick Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
telegram webClick Here

Leave a Comment