Cheetah pariyojana 2022 : नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर शिलान्यास किया जाएगा ,क्या है चिता परियोजना

Cheetah pariyojana 2022 :-देश में निरंतर चीता Cheetah की अस्तित्व खत्म होते जा रहा है| ऐसे में केंद्र सरकार द्वारा चीते Cheetah को अस्तित्व को बढ़ावा देने के लिए एक अटल प्रयास किया जा रहा है| उम्मीद है यह भी जताई जा रही है कि, प्रधानमंत्री अपने जन्मदिन के शुभ अवसर पर नामीबिया (Namibia) 8 आठ चीते Cheetah लाए जाने की संभावना है |




वे मध्य प्रदेश के कुनो पालपुर पार्क Kuno Palpur Park in Madhya Pradesh (Kuno Wildlife Sanctuary) में चीता परियोजना का शुभारंभ कर सकते हैं | 17 सितंबर 1950 को जनमें पीएम मोदी इस साल 72 वर्ष की आयु के हो जाएंगे, इसके लिए मध्य प्रदेश सरकार ने पूरी तैयारी कर ली है|

Cheetah pariyojana 2022
Cheetah pariyojana 2022

क्या है चिता परियोजना ? What is the Pitta Project ?

Cheetah pariyojana 2022 :- इस परियोजना का मुख्य मकसद यह है कि, देश में फिर चिताओं की अस्तित्व को बहाल किया जा सके देश में निरंतर चिता Cheetah की अस्तित्व खतरे में बनी हुई है| हालांकि अपने देश में चिताओं की शिकार बहुत ज्यादा हो रही है| एवं क्लाइमेक्स की परिवर्तन भी इन चिताओं पर सूटेबल नहीं बैठ रहा है| इस परियोजना को चलाने का मुख्य मकसद यही है कि देश में चिताओं की संख्या को बढ़ाया जा सके |

Cheeta pariyojana 2022

Cheetah pariyojana 2022 :- इस परियोजना Project का नाम का अर्थ इसी में ही छुपा हुआ है| यह परियोजना धरती पर सबसे तेज दौड़ने वाले जीव चिता Cheetah का संरक्षण के लिए लाई गई है| दुर्भाग्य है कि, देश में चीता की स्थिति 70 साल पहले ही खत्म हो चुकी है| ऐसे में केंद्र सरकार द्वारा भारत में चीता को लाए जाने की अटक-प्रयास किया जा रहा है| उम्मीद जताई जा रही है कि पीएम नरेंद्र मोदी PM Narendra Modi द्वारा अपने जन्मदिन के 72 में साल के उपरांत ना नामीबिया (Namibia) से 8 चीते श्योपुर, एमपी लाएगे

चीता परियोजना Cheetah Project :- के तहत सरकार द्वारा अगले 5 सालों में चीता ओं की संख्या बढ़ाकर 50 तक करने की योजना बनाई गई है राजा राजाओं द्वारा लगातार चीते की शिकार करने का उपक्रम रहा है| जिसके कारण भारत एशियाई चीतों का घर माना जाता था जहां दुनिया में सबसे ज्यादा चीता पाए जाते थे| उस देश में 1952 में चीते को विलुप्त घोषित कर दिया गया | आलम यह रहा कि आज भारत जैसे देश को भी दूसरे देश से चिता को खरीद कर मंगाने की नौमत आ चुकी है|

कुनो पालपुर मे इन चीता को रखा जाएगा-Cheetah Project

Cheetah Project :- सूत्रों की माने तो इन चिताओं को कुन्नू पालमपुर पार्क Kunnu Palampur Park में रखा जाएगा, यह प्रोजेक्ट की कल्पना 2009 में ही की गई थी बीते साल कोविड कारणों से स्थगित था| कूनो पालपुर पार्क में इन चीतों को रखने की सुरक्षित स्थान चुन लिया गया है| भारतीय वन्यजीव संस्थान (Wildlife Institute of India) के विशेषज्ञों ने भी इस क्षेत्र की निगरानी की है| अधिकारियों के अनुसार मध्य प्रदेश जीवो के संरक्षण का रिकॉर्ड अच्छा रहा है क्योंकि 2009 में पन्ना में बाघों का सफलतापूर्वक पाला गया था|

Cheetah pariyojana 2022  महत्वपूर्ण लिंक देखें
Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Liger movie 2022Click Here
Amrita Hospital 2022Click Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
telegram webClick Here
Cheetah pariyojana 2022

Leave a Comment