Ration card new surrender rules : को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने की समीक्षा बैठक

Ration card new surrender rules को लेकर हो रही अफवाह को देखते हुए राज्य सरकार ने अपने मंत्रियों द्वारा तथा इस विभाग के अधिकारियों द्वारा समीक्षा बैठक की गई है इस बैठक में अधिकारियों से यह रिपोर्ट मांगा गया है किअफवाह के बारे में जांच की जाए और इसमें लिप्त व्यक्तियों द्वारा जोकि अफवाह को हवा दे रहे हैं उनके विरुद्ध कड़ी से कड़ी कार्रवाई की प्रावधान किया जाए |




विभाग द्वारा मांगी गई समय के रिकवरी जून 2022 को सरकार के समक्ष इन अफवाहों में लिप्त व्यक्तियों को हिरासत में लिया जाए और उनके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए |

Ration card new surrender rules अधिकारियों द्वारा स्पष्टीकरण

Ration card new surrender rules:- जिले के जिला अधिकारियों द्वारा यह कहा गया है कि जो अपात्र व्यक्ति है वह अपना ration card स्वेच्छा अनुसार सरेंडर कर सकता है इस फरमान को जारी होते देख जिले में 46000 लोगों को लगा कि हम लोग अपात्र हैं |

उन्होंने फौरन अपने फॉर्म अपने ब्लॉक तहसील पर जाकर उसको जमा करवाया इसी बीच कई लोगों ने भ्रामक खबरों के आधार पर सवा लाख लोगों ने जिले का ration card को लेकर अपने जिला अधिकारी कार्यालय पर पहुंच गए इसे देख तत्काल जिलाधिकारी ने एक नया फरमान जारी कर दिया |

उस फरमान में कहा गया कि जिस व्यक्ति के पास एक धारी लाइसेंस , मुर्गी फार्म हो, पशु पालन करता हो, मोटरसाइकिल हो, या दुकानदार हो, आदि को पात्र माना जाएगा जिला अधिकारी द्वारा एडवाइजरी जारी होने के बाद

लोगों के जान में जान आई नहीं तो लोग अपने को अपात्र मान ration card रिकवरी की दर ₹30 किलो की दर से मानते हुए लोगों ने अपने को अपात्र मानते हुए ब्लाक तहसील पर जा जाके अपनी आधार कार्ड राशन कार्ड को ले जाकर को अपात्र घोषित करवाने के तौर पर पहुंचने लगे

Ration card new surrender rulesएडवाइजरी ?

Ration card new surrender rules:- योगी सरकार उत्तर प्रदेश द्वारा एडवाइजरी जारी करते हुए यह कहा गया है कि प्रदेश में चल रही खाद्य वितरण को लेकर यह एक तथ्य विहीन खबर है | यह एक आधारहीन और भ्रामक खबर है राशन कार्ड सत्यापन एक सामान्य प्रक्रिया है इसमें 8 साल पहले जो नियम लागू था वही नियम लागू है | वर्तमान में उन नियमों को कोई बदलाव नहीं किया गया है जो पात्र हैं उनको राशन लाभ मिलते ही रहेगा यह राशन बंद नहीं होंगे |

Ration card new surrender rules

  • राशन कार्ड भुगतान मुखिया का नाम महिला का होना अनिवार्य
  • परिवार का कुल मासिक आय ₹15000 हजार से कम हो |
  • अगर मुखिया पुरुष हो तो उसका उम्र कम से कम 60 वर्ष होना अनिवार्य है या फिर लाइलाज बीमारी से ग्रसित हो |
  • जिस महिला मुखिया के नाम से राशन कार्ड है उसका न्यूनतम उम्र 18 वर्ष से अधिक होना चाहिए |
  • निवासी किसी भी प्रदेश से बिलॉन्ग करता हो उस प्रदेश का नागरिकता होना |

ऐसे परिवार ही राशन कार्ड का लाभ ले सकते हैं जिनका कुल खेती 2 एकड़ से कम हो

इन लोगों को राशन कार्ड करना पड़ेगा सरेंडर ??

  • किसी भी सरकारी विभाग में कार्यरत सरकारी कर्मचारी को अपनी राशन कार्ड सरेंडर कर आना होगा |
  • ऐसा कोई भी परिवार के 80 वर्ग मीटर में कमर्शियल जमीन हो | उन्हें भी अपना राशन कार्ड सरेंडर करना अनिवार्य घोषित किया गया है|
  • अगर राशन कार्ड उपभोक्ता शहर में निवास करता हो| या उसका मासिक आय ₹300000 से ऊपर हो उन्हें भी अपना राशन कार्ड सरेंडर करवाना अनिवार्य है|
  • उपभोक्ता का पक्का मकान हो घर में ऐसी हो| या घर में चार पहिया वाहन हो उन्हें भी कार्ड सरेंडर करना अनिवार्य माना गया है|
  • अगर उपभोक्ता आयकर के दायरे में है| या फिर आयकर दाता हो उन्हें भी अपना कार्ड सरेंडर करवाना होगा |

Leave a Comment