Pitru Paksha knowledge 2022 : पितृ पक्ष आज से शुरू जाने किन किन चीजों का बरतना है, सावधानियां

Pitru Paksha knowledge 2022 :- आज से ही पितृ पक्ष शुरू हो गया है इस बार फिर पितृ पक्ष का महत्व 10 सितंबर से आरंभ होकर 25 सितंबर तक उपस्थित रहेगा हिंदू पंचांग के अनुसार पक्ष का आरंभ भादरा मास की पूर्णिमा से होते हुए समाप्त अग्नि मास के अमावस तक रहेगा | पितृ पक्ष में कौन सी गलती नहीं करनी चाहिए पितृ पक्ष के दौरान कुछ नियमों का जरूर पालन करना चाहिए क्योंकि, इन दिनों में व्यक्ति अपने पुनर्जन्म की अर्चना करता है| एवं आशीर्वाद पाने के लिए कोशिश करता है अगर थोड़ी भी कोई गलती होगी तो आपके पितृ पक्ष नाराज हो सकते हैं पितृ पक्ष के दौरान किन-किन चीजों बच के रहें|




Pitru Paksha 2022 LIVE
Pitru Paksha knowledge 2022

गया में करें पिंड दान

गया जी में पिंड दान करने से पितृ पक्ष पुत्र द्वारा फल्गु नदी में स्पर्श करके अपने पितरों को पुनर्जन्म की मुक्ति के लिए अर्चना किया जाता है| जिनसे कि उनके पुनर्जन्म से उन्हें मुक्ति मिल जाए गया जी के क्षेत्र में तिल के साथ शमी पत्र के प्रमाण पिंड देने से पितरों को स्वर्गवास मिलता है| यहां पर पिंडदान ब्रह्मास्त्र का जाप इत्यादि घोर पाप से मुक्ति मिलती है|

गाय के पिंड दान करने से कोटि तीर्थ तथा अशुद्ध गणेश्वर यज्ञ का फल मिलता है| श्रद्धा करने वाली किसी भी काल में पिंडदान कर सकते हैं| साथ ही यहां ब्राह्मणों को भोजन भी करा सकते हैं| पितरों की तृप्ति के लिए गया में पिंडदान करने से पहले मुंडन कराना आवश्यक होता है| जिससे बैकुंठ धाम मिलता है| साथ ही काम, क्रोध, मोह, से मुक्ति प्राप्त होती है|

Pitru Paksha knowledge 2022 – गया में पिंडदान करने का क्या है महत्व

Pitru Paksha knowledge 2022 :- गयाजी में माता सीता ने तब किया था गया में ही पिंड दान करने से आत्मा का मोक्ष की प्राप्ति होती है| इसीलिए इस स्थान को मोक्ष स्थली भी कहा जाता है| यहां तक यह भी कहा गया है कि गया में भगवान विष्णु स्वयं प्रीति देव के रूप में निवास करते हैं| यहां तक कि अभी धारणा प्रचलित है| श्रद्धा कर्म और तर्पण विधि करने से कुछ शेष नहीं रह जाता और व्यक्ति पितृ से मुक्त हो जाता है|

What is paternalism? पितृदोष क्या है?

जिनके घर में लगातार दोएस क्लेश बढ़ता जाता है, हर रोज किसी अनहोनी घटना का आपके घर का कोई भी मंगल कार्य शुभ ना होना और दिन किसी का अनुभव लड़ाई झगड़ा बढ़ना मनमुटाव बढ़ना यहां तक की यह सब एक पित्त दोष का कारण में आता है|

प्रीति दोष से मुक्ति पाने के लिए पितृपक्ष में श्राद्ध और तर्पण करना चाहिए यहां तक जाता है कि इस अवधि के दौरान श्रद्धा अनुसार करने में मदद करने वाले ब्राह्मण पुजारियों को भी भोजन कराना है उन कपड़े आदि का दान देना उचित रहता है

पितृ पक्ष में और क्या ना करें-Pitru Paksha knowledge 2022

  • कोई भी मांगलिक कार्यक्रम ना करें मान्यताओं के आधार पर पितृ पक्ष में कड़े दिन कहते हैं| इन दिनों में कोई भी मांगलिक कार्य करने की मनहाई होती है| इसीलिए इस दिन में मांगलिक शुभ काम से बचें
  • बाल ना कटवाए हिंदू धर्म की मान्यताओं के मुताबिक कड़े दिनों में पुरुषों को बाल और दाढ़ी नहीं कटवाने चाहिए अगर ऐसे करते हैं तो पुनर पितृपक्ष नाराज हो सकते हैं|
  • खुशबू वाले चीजें से लगाने से बचे हैं जैसे कि परफ्यूम, सेंट, इतरा आदि
  • मसूर के दाल का भी इस्तेमाल नहीं करना चाहिए प्रीति पक्ष के दौरान क्योंकि इसका संबंध मंगल ग्रह है जो कि क्रोध का कारण माना जाता है इसलिए इसका सेवन नहीं करना चाहिए
  • प्रीति पक्ष के दौरान लहसुन प्याज तामसी भोजन का भी सेवन नहीं करना चाहिए मांस मदिरा का भी सेवन नहीं करना चाहिए
  • Pitru Paksha knowledge 2022
पितृ पक्ष का मुहूर्त (Muhurt of Pitru Paksha 2022)

कुतुप मुहूर्त (Kutup Muhurat) – यह मुहूर्त का समय दोपहर 12:11 बजे से दोपहर 01:00 बजे तक, अवधि: 49 मिनट

रोहिना मुहूर्त (Rohina Muhurat) – इस मुहूर्त का शुभ समय दोपहर 01:00 बजे से दोपहर 01:49 अवधि: 49 मिनट

अपराह्न मुहूर्त (Aparahna Muhurat)– इस मुहूर्त का समय लगभग 01:49 अपराह्न से 04:17 अपराह्न, अवधि: 02 घंटे 28 मिनट

श्राद्ध के प्रकार

Pitru Paksha 2022 LIVE :-मत्स्य पुराण की माने तो श्रद्धा वैसे तो 12 प्रकार के होते है लेकिन इस के तीन प्रमुख कारण बताए गए है जिनमें से पहला कारण नित्य, दूसरा नैमित्तिक और तीसरा काम्य है

नित्य श्राद्ध: नित्य श्रद्धा बिना किसी आवाहन के किए जाते है|श्राद्ध निश्चित अवसर पर किए जाते हैं यह श्रद्धा मूल रूप से अष्टम और अमावस्या के दिन किया जाता है|

नैमित्तिक श्राद्ध: अनैतिक श्रद्धा में मुख्य रूप से किया जाने वाला एक श्राद्ध है| यशराज किसी के ऐसे अवसर पर किया जाता है|जो अनिश्चित होता है यदि आज सिर्फ पक्ष के दौरान संतान जन्म होता है और ऐसे समय में अनेक श्रद्धा के जाता है|

काम्य श्राद्ध: अगर आप किसी विशेष फल प्राप्त करने के लिए कोई पूजा पाठ या फिर यज्ञ किसी भी तरह की कार्यक्रम को आयोजित करते हैं| कई लोगों स्वर्ग की कामना मोक्ष की प्राप्ति या फिर संतान प्राप्ति सुख प्राप्ति किसी भी तरह की प्राप्ति के लिए आप कोई भी शतकम या कार्य करते हैं| इस श्रद्धा को काम में श्रद्धा से देखा जाता है|

श्राद्ध पूजा की सामग्री

Pitru Paksha knowledge 2022 :- इस दिन पूजा सामग्री के लिए कुछ विशेष ही सामान लगेंगे रोड़ी, सिंदूर, छोटी सुपारी, कपूर, हल्दी, देसी घी, रक्षा सूत, चावल जाओ, काला तिल, जो हवन सामग्री, रुई बत्ती, अगरबत्ती, गुड, मिट्टी का दिया, दही, जौ का आटा, गाय, का दूध, खीर, गंगा जल, खजूर, केला, सफेद, फूल, स्वांग के चावल, मूंग, गन्ना, फल प्रसाद, आदि |

कौन पितरों के लिए जल अर्पण या श्राद्ध कर सकता है ?

Pitru Paksha knowledge 2022 :-पितरों को जल देने का भी एक नियम है नियम यह है कि, पितरों को प्रति दीन जल अर्पित करना होता है यह जल दक्षिण दिशा की ओर मुंह करके के समय दिया जाता है| जल में काला तिल मिलाया जाता है, और हाथ में कुछ रखा जाता है, जिस दिन पूर्वज का देहांत की तिथि होती है, उस दिन अन्य और वस्त्र का दान भी किया जाता है| उसी दिन किसी निर्धन को भोजन भी कराया जाता है, एवं पंडितों को दान दक्षिणा भी दिया जाता है

बाद में पीड़ित पक्ष के कार्य समाप्त हो जाते हैं| घर के वरिष्ठ पुरुष सदस्य नित्य तर्पण कर सकता है| उसके अभाव में घर में कोई भी पुरुष सदस्य कर सकता है पुत्र और नातिन एवं नतिनी भी तर्पण कर सकते हैं| वर्तमान में स्त्रियां भी तर्पण और श्रद्धा करा सकती हैं सिर्फ इतना ध्यान रखें कि पितृपक्ष की सावधानियों का पालन करें |

अगर आपके पास पितरों के श्राद्ध करने की सामर्थ्य नहीं है तो क्या करें ?

Pitru Paksha knowledge 2022 :- अगर आपके पास पितरों को श्राद्ध करने के लिए सामर्थ्य पैसा या समय नहीं है| तो आप आने वाले प्रातः वर्ष इस वर्क को कर सकते हैं| या फिर प्रातः काल स्नान करके सूर्य देव को जल अर्पित कर दें दोपहर के समय पितरों को जल अर्पित करें और इसके बाद गाय को हरा चारा खिलाकर पितरों का कृपा प्रताप करें आपका जो भी श्रद्धा संपूर्ण होगा |

Pitru Paksha knowledge 2022 महत्वपूर्ण लिंक देखें
Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Liger movie 2022Click Here
Amrita Hospital 2022Click Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
telegram webClick Here
Pitru Paksha knowledge 2022

Leave a Comment