Constitution Day 2022 : भारतीय संविधान की कुछ विश्लेषण, संविधान में डॉक्टर अंबेडकर की भूमिका

Constitution Day 2022 : पूरे भारतवर्ष में आज संविधान दिवस मनाया जाएगा | वही पीएम मोदी कल sc में संविधान दिवस पर करेंगे शिरकत, जबकि संविधान दिवस पर आज राहुल गांधी द्वारा भी अंबेडकर रैली में शामिल होकर केंद्र पर कड़ा प्रहार देखने को मिल सकता है |




Constitution Day 2022
Constitution Day

जबकि प्राइम मिनिस्टर मोदी द्वारा सुप्रीम कोर्ट में आयोजित एक समारोह में भी संविधान पर भाषण दिया जाएगा | पूरे भारतवर्ष में संविधान दिवस हर साल की भांति इस साल भी 26 नवंबर को मनाया जाएगा | आज के ही दिन आजाद भारत की संविधान देश को मिला था | जो कि 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा में भारत को अपना संविधान अपनाया गया था |

जबकि संविधान को भारत में 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया था | भारत सरकार द्वारा नागरिकों के बीच संविधान की समन्वय बनाए रखने के लिए हर वर्ष 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है |

संविधान कब लिखी गई,

Constitution Day 2022 : इस संविधान को बनाने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा था पूरे भारत राष्ट्र को इस संविधान को 26 जन 1950 को लागू किया गया जबकि यह 26 नवंबर 1949 को ही राष्ट्र को समर्पित हो चुका था | इसी 3 को ही संविधान निर्माता समिति के वरिष्ठ सदस्य डॉ सर हरीसिंह गौर का जन्मदिन भी मनाया जाता है |

भारत गणराज्य का संविधान 16 नवंबर 1949 को बनकर तैयार हुआ था | इस संविधान सभा के प्रारूप समिति के अध्यक्ष डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के 125वी में जयंती के वर्ष के रूप में 16 नवंबर 2015 को पहली बार भारत सरकार द्वारा संविधान दिवस पर पूरे भारतवर्ष में संविधान दिवस मनाया गया इसके पहले भी भारत में संविधान दिवस मनाया जाता था इससे पहले इसका नाम राष्ट्रीय कानून दिवस के रूप में जाना जाता था |

भारतीय संविधान के राइटर कौन हैं

Constitution Day 2022 : भारतीय संविधान के राइटर बिहारी नारायण रायजादा को माना जाता है संविधान लिखने के लिए उन्होंने कोई भी मेहनताना या पैसा नहीं लिया था बल्कि उन्होंने इसके बदले में संविधान के हर पृष्ठ पर अपना नाम लिखा था | और संविधान की आखरी पेज पर अपने नाम के साथ साथ अपने दादा का भी नाम लिखा था |

भारतीय संविधान किसी प्रिंटिंग या टाइपराइटिंग से नहीं लिखी गई थी यह बिहारी नारायण रायजादा ने अपनी कलम से लिखी थी उनका मुख्य काम ही था सुलेख करना जिसे हम लोग हस्तलिपि कहते हैं | संविधान लिखने में उन्हें 6 महीने लगे थे | जबकि 254 पेन होल्डर का इस्तेमाल भारतीय संविधान लिखने में किया गया था |

भारतीय संविधान के चित्रकार कौन है

Constitution Day 2022 : संविधान की हरपीज और चित्र बनाने की सजावट का जो कार्य था वह आचार्य नंदलाल बोस ने किया था संविधान की मूल प्रतियां आज भी भारत के संसद में स्थित लाइब्रेरी में सुरक्षित तौर पर रखी गई है |

भारतीय संविधान की कुछ बारीकियां

Constitution Day 2022 : देश में पहली संविधान दिवस 2015 में भीमराव अंबेडकर की 125वीं जयंती के तौर पर भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मुंबई में ऐलान किया गया था | जिसे आधिकारिक तौर पर हर वर्ष 26 नवंबर को देश का संविधान दिवस मनाया जाता है | 15 अगस्त 1947 को ही आधी रात को भाग अंग्रेजों द्वारा आजाद किया गया था |

आजादी मिलते ही देश को चलाने के लिए सबसे बड़ी समस्या थी | संविधान निर्माण कार्य को पूरा करना संविधान बनाने की शुरुआत उसी रात से शुरू हो गई थी | 9 दिसंबर 1946 से ही भारत के संविधान पर कार्य हो रहा था |

लेकिन 29 अगस्त 1947 को भारतीय संविधान Constitution Day बनाने के लिए एक समिति का गठन किया गया था | और इस समिति का अध्यक्षता डॉ भीमराव अंबेडकर द्वारा किया जा रहा था | डॉक्टर भीमराव अंबेडकर द्वारा संविधान बनाने के दौरान दुनिया भर की संविधान को बारीकी से पढ़ा गया था | और फिर जाकर भारतीय संविधान के निर्माण किया गया था |

Constitution Day 2022 – महत्वपूर्ण लिंक देखें

Bharat Yojana Home Page LinkClick Here
Vivo Y75 5G 2022Click Here
Huawei Pocket S priceClick Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
telegram webClick Here

Leave a Comment