Pimple on face Kya Hai, कील-मुहांसों से छुटकारा पाएं आज ही “7 “दिनों में

Pimple on face क्या है, ज्यादातर सामान्य रूप से यह देखा गया है, कि “13” वर्ष की उम्र से शुरू होकर यह 30 से 35 वर्ष तक रह सकता है| उम्र के हिसाब से त्वचा की एक ही स्थिति हो जाती है, जब वह सफेद दाग, काले, और जलने वाले लाल, दाग, के रूप में त्वचा साफ दिखाई देने लगता है, उम्र के बढ़ने के साथ-साथ शरीर में अनेकों प्रकार की हार्मोन के स्राव, की प्रवृत्ति होने लगती है| यह एक हारमोंस के कारण होता है |




किसी -किसी में यह हारमोंस अधिकता होती है, तो यूं कह लीजिए किसी में हारमोंस कम, भी होती है जिनके में हारमोंस कम पाई जाती है, उनका एक अनिश्चित काल में कील मुंहासे “Pimple on face” निकलने की प्रवृत्ति जाकर बंद हो जाती है, वही जिनकी हार्मोन ज्यादातर विकसित होती है, उनका यह कील मुंहासे “Pimple on face” हारमोंस “स्रावित” होने के कारण एक लंबे अरसे तक बने ही रहते हैं

Pimple on face
Pimple on face

Pimple on face क्या है, यहां तक कि यह भी देखा गया है, वह गड्ढे इतने बड़े हो जाते हैं, कि वह चेहरे पर पूरे जीवन काल तक दिखाई ही देते रहते हैं, जिससे कि लोगों को अनभिज्ञता महसूस होती है, कितने लोग तो कील मुंहासे”Pimple on face”निकल जाने के बाद समाज में उठना बैठना, लोगों से मिलना जुलना, बहुत कम ही कर देते हैं| इसका मुख्य कारण यह होता है,कि व्यक्ति लोक -लज्जा की डर से अपने आप को एक जगह सीमित कर देता है|

Pimple on face क्या है, समाज में बहुत लोगों, द्वारा कील मुंहासे “Pimple on face” को छुआछूत की भावना से भी देखा जाता है, जबकि मैं आपको बताना चाहूंगा ऐसा कुछ नहीं है, छुआछूत से फैलने वाली बीमारी नहीं है इसका इलाज भी संभव है, कुछ प्रोटीन होते हैं जो “व्यक्ति” अपने भोज के तौर पर शामिल करना पड़ेगा प्रोटीन की कमी से ही कील मुंहासे”Pimple on face” स्क्रीन पर “ग्रो” होने लगते हैं| हम अपने आर्टिकल के माध्यम से आपको उन प्रोटीन को सेवन करने का एवं प्रोटीन का नाम भी बताएंगे इससे “95” पंचानवे परसेंट रोगी ठीक हो जाते हैं|

Pimple on face तीन प्रकार के होते हैं.

कॉमेडोनिका “Comedonica” – किशोरों को होने वाले मुंहासे में से एक प्रकार कॉमेडोनिका एक्ने कहा जाता है, इसे कई डॉक्टरों द्वारा माइल्ड एक्ने यानी हल्के Pimple on face के नाम से भी जाना जाता है, इसे श्रेणी क्रम में रखा जाए तो ब्लैकहेड्स व व्हाइटहेड्स मैं रखा गया है|

  • पुस्टुल्स एक्ने “Pustules Acne”- इसे हम लोग मॉडरेट या मध्य मुंहासे के नाम से जानते हैं| इस मुहासे में पिंपल की स्थिति हल्की सूजन दिखाई देती है एवं पिंपल्स पर हल्का सूजन जमा होता है|
  • नोड्यूल्स एक्ने “Nodules Acne”– मुहासे का इस प्रकार को काफी गंभीर माना जाता है ज्यादातर इस स्थिति में एक्ने में सूजन हो जाती है तथा पिंपल्स में पीले रंग की पस बन जाती है|

Pimple on face को 4-चार विटामिन से दूर करें

विटामिन ए (Vitamin A)– विटामिन”ए” की कमी के कारण चेहरे पर त्वचा प्रभावित होती है| विटामिन “ए” में एक एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो त्वचा को पिंपल्स और दाने के लिए शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है| विटामिन “ए” में आने वाले मुख्य भोजन हरी मिर्च,गाजर,टमाटर,चुकंदर मूली,आदि खाद्य पदार्थ आते हैं, जिसमें प्रोटीन “ए” के मुख्य रूप से पाया जाता है|

विटामिन बी3 (Vitamin B3)– अगर शरीर में विटामिन B3 की कमी होता है, तो त्वचा पर दाग धब्बे और दाने होते है|इसके एंटीइंफ्लेमेटरी गुण एक्ने यह चेहरों चमक को बढ़ाने में कारगर साबित होता है, इनमें मुख्य रूप से मूंगफली, सूर्यमुखी, के बीज ,मशरूम ,टमाटर एवोकाडो ,मुख्य रूप से विटामिन B3 का स्रोत माने जाते हैं,

विटामिन ई (Vitamin E)– विटामिन ई की मुख्य भूमिका त्वचा में नमी को कम करना होता है, और कोलेजन, के उत्पादों को बढ़ाना होता है| इसमें मुख्य रूप से हरी सब्जियों का सेवन से भी विटामिन “इ” पूरी हो जाते हैं, जैसे पालक किसी अन्य प्रकार के साग-सब्जी भी आते हैं|

विटामिन डी (Vitamin D)– विटामिन डी द्वारा शरीर में इम्यूनिटी सिस्टम बढ़ाने की में भरपूर सहयोग किया जाता है| यह चेहरे पर होने वाले सूजन को दूर करता है, एक्ने को भी कंट्रोल करता है, साथी साथी हड्डियों को मजबूत करने में कारगर सिद्ध होता है| विटामिन “डी” के स्रोत दूध और अनाज वसा पुणे मछली जैसे सालमन विटामिन डी के प्रकार हैं तथा धूप से सिकाई करना विटामिन डी का मुख्य स्रोत माना जाता है

पिंपल मुंहासे होने के कारण ?

Pimple on face क्या है एलोपैथिक चिकित्सा विज्ञान के माने तो वसा ग्रन्थियों (सिबेसियस ग्लैंड्स) से निकलने वाले स्राव का कहीं ना कहीं रुक जाना या बंद हो जाना है त्वचा को मस्कुलेटर रखने के लिए रोम छिद्रों को वर्क करना बहुत जरूरी होता इन के नीचे छिद्रों बंद हो जाने के कारण रूम छिद्रों कोएक्ने वल्गेरिस ढक लेती है जिससे की उन छिद्रों के नीचे पस बनने शुरू हो जाते हैं|

मुहांसों के प्रभाव कम कैसे करें
  1. मुहासा अगर त्वचा पर दिखना शुरू हो जाए तो सर्वप्रथम आप किसी चर्म रोग विशेषज्ञ से परामर्श लें,
  2. भोजन करते वक्त ज्यादा घी तेल मसालों का प्रयोग ना करें,
  3. भोजन करने के पूर्ण पानी का पूरा प्रयोग करें कब्ज ना बनने दें’
  4. चिकनाई वाले कास्टमैटिक उत्पादों का प्रयोग ना करें,
  5. ज्यादा नमक का उपयोग ना करें,
  6. सुबह में डालना शुरू कर दें स्वास्थ हवा का प्रयोग करें व्यायाम करें,
  7. गर्म मिर्च एवं चाय का सेवन कम कर दें,
  8. बार-बार अपने हाथों को चेहरे के त्वचा पर ना ले जाएं,
  9. मुंहासे को थोड़े मत किसी रबड़न से बचाएं दबाने से बचाएं,
कील मुहांसों के घरेलू उपचार
  • अपनी त्वचा को कच्चे दूध है और नींबू मिलाकर रुई के साथ साफ करें तथा त्वचा पर जमी गंदगी को हटाए,
  • त्वचा पर अपनी साफ से धोएं धोने के उपरांत मुल्तानी मिट्टी एवं नींबू तथा साथ में टमाटर का रस मिलाकर लगाएं सूख जाने पर त्वचा को ठंडे पानी से धो लें,
  • नीम के पत्तों को बारीकी से पीसकर उसका एक लेख तैयार कर लें फिर उसमें थोड़ी फिटकरी का पानी डालकर त्वचा पर लगाएं मुंहासे जड़ से खत्म कर देंगे,
  • चेहरे को ढककर गर्म पानी का भाप लें आसानी से अपने किलो किसी चिमटी या उंगलियों के सहारे रुई के दबाव से कील को बाहर निकाले,
  • एक बड़ा चम्मच तुलसी के पत्तों का पाउडर बनाएं, तथा एक चम्मच में नीम के पत्तों का भी पाउडर को मिलाकर मिक्स करें करें हल्दी पाउडर तथा दही का छाछ का पानी का प्रयोग कर सकते हैं|

Pimple on face क्या है   – महत्वपूर्ण लिंक देखें

Gadgets Update Hindi Home Page LinkClick Here
Liger movie 2022Click Here
Amrita Hospital 2022Click Here
Instagram Joining LinkClick Here
Google NewsClick Here
telegram webClick Here

Anna Mani 104 Birthday 2022
Liger movie 2022 : रिलीज होते ही पर्दे पर चल नहीं पाई, Liger movie first day earning
Karnataka Cricket Team: कर्नाटक स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन किसी अच्छे दौर से गुजर नहीं रहा
CSC Yogyata Learning Mobile App launched
UP Police Character Certificate Online Apply
फ्री सिलाई मशीन योजना फॉर्म
scholarship, Bihar e-kalyaan 2022

Leave a Comment